सिंह राशिफल 2018

 

आजीविका:
यह वर्ष विशेष रुप से व्यवसाय से जुड़ी विदेश यात्राओं का रहेगा, व्यय भाव में राहु व्यर्थ विषयों और यात्राओं पर अत्यधिक खर्च होने के संकेत दे रहे हैं। जनवरी माह में भाग्येश मंगल और कारक गुरु दोनों की तुला राशि में युति आपके मुश्किल कार्यों को भी सहजता से पूरा करने में सहयोग करेगी। इस समय आप सम्मान के प्रति सजग रहेंगे। अगस्त-सितम्बर माह में आय बढ़़ाने के उद्देश्यों से विदेश और दूरस्थ यात्राएं हो सकती हैं। उच्चाधिकारी आपके कार्य और योग्यता की विशेष सराहना करेंगे।

स्वास्थ्य:
इस वर्ष सेहत को लेकर कुछ सतर्कता रखनी होगी। शारीरिक अनियमितताओं का खास ध्यान रखना होगा। व्यय भाव में राहु आपसे चिकित्सा विषयों पर अत्यधिक खर्च कराएगा। छुपे हुए रोग शीघ्र अपने प्रभाव में ले सकते हैं। आपको फरवरी माह, जुलाई-अगस्त माह में मौसमी रोगों से बचाव का अतिरिक्त ख्याल रखना होगा। साथ ही ह्रदय रोग व पेट से संबंधित बीमारियां भी प्रभाव में आयेंगी। योग और संतुलित जीवन शैली का पालन करना रोगों को नियंत्रित रखेगा।

आर्थिक स्थिति:
आर्थिक प्राप्तियां मंदगति से परन्तु दीर्घकालीन होंगी। साल के शुरु में कहीं से रुका हुआ धन या अचानक कहीं से धन प्राप्ति के योग हैं। अगर पूर्व में किसी से कर्ज लिया है तो वह आसानी से उतर जाएगा। इस साल पैसा तो बहुत आएगा पर इसके साथ ही खर्च भी बढ़़ सकता है। इस साल प्रतिद्वंद्वियों से आगे निकलने के योग हैं। अगस्त के बाद का समय धन आगमन के लिए बेहद शुभ है। आर्थिक सुदृढ़ता प्राप्त करने के लिए व्यर्थ के खर्चों पर नियंत्रण रखना होगा।

यात्रा/अप्रवास/स्थानांतरण:
विदेश यात्राएं व्यावसायिक और लाभ विस्तार में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेंगी। विदेश भाव में राहु आपको एक से अधिक बार विदेश यात्राओं के योग बना रहे हैं। आय बढ़़ाने के लिए जनवरी-फरवरी माह में नौकरी में बदलाव करने का प्रयास करेंगे। मार्च माह में घर-परिवार से दूरी संभावित है। अक्तूबर माह में घर-परिवार के साथ यात्राओं पर जायेंगे। वर्ष के उत्तरार्द्ध में कहीं यात्रा का योग बनेगा। गुस्से और आवेश की मात्रा भी अधिक रहेगी।

परीक्षा और प्रतियोगिता:
बोर्ड या प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्रों को इस साल कड़ी मेहनत करनी होगी तभी अच्छे परिणाम हासिल होंगे। मन को एकाग्र करने में कुछ समस्या आ सकती है। पढ़ाई में रुचि बढ़़ेगी और याद करने की क्षमता में भी बढ़ोत्तरी होगी। उच्च शिक्षा या विदेश में शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्रों के लिए साल का उत्तरार्द्ध अनुकूल रहेगा। वर्ष के अंत में प्रतियोगी परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले छात्र अपनी मेहनत में किसी भी प्रकार की कमी न करें।

घर, परिवार और समाज:
वर्षारम्भ में सूर्य धनु राशि पर गोचरस्थ रहेंगे, यह संतान चिंताओं को बढ़़ाएगा। धनु के शनि अविवाहितों का विवाह तय होने में सहयोग देंगे। इस वर्ष परिवार में कोई नया सदस्य प्रवेश कर सकता है। अविवाहितों को इस साल प्यार के कई मौके मिलेंगे। पंचम भाव पर शनि की स्थिति के फलस्वरुप नए रिश्तों में आंशिक तनाव और बाधाएं रहेंगी, इनसे दूर रहने का प्रयास करें। संतान से जुड़े विषय आपकी चिंताओं को बढ़़ायेंगे। हालांकि वर्ष के मध्य में चीजें शांत होती दिखेंगी और दांपत्य जीवन में फिर से खुशियां लौट आएंगी।

धार्मिक कर्म:
वर्ष के पूर्वार्द्ध में धर्म-कर्म क्रियाओं में सक्रियता अधिक रहेगी। घर व व्यावसायिक स्थल पर ग्रह शांति क्रियाएं करना विशेष लाभदायक रहेगा। इस समय हवन, पाठ और अन्य विधियों के द्वारा आप मानसिक शांति की ओर अग्रसर रहेंगे। बारहवें भाव में राहु की स्थिति कुछ समय के लिए आध्यात्मिक विषयों से विमुख कर सकती है। संपूर्ण वर्षावधि में संतान और दांपत्य जीवन को सुखमय बनाए रखने के लिए भी आपको परिवार के साथ अधिक से अधिक समय बिताना होगा। शनि शांति पाठ से भी स्थिति में अवश्य सुधार होगा।